PM Kisan : किन लोगों के अकाउंट में नहीं आने वाली 12वीं किस्त, यहां देखें लिस्ट 

August 25, 2022 By Monikazone.com 0

किसानों के लिए बड़ी खबर होने वाली है किसानों को जिस पीएम किसान सम्मान निधि की 12वीं किस्त का इंतजार है उसके बारे में यहां पर आपका जानकारी देने वाले हैं योजना का लाभ लेने के लिए इन 7 दिनों में आप ईकेवाईसी जरूर करा लें ऐसा नहीं करने पर आपकी किस्त रोक दी जाएगी या आप की 2000 की किस्त अटक सकती है सरकार ने इसके लिए 31 अगस्त 2022 तक की मोहलत दी है

सभी किसान भाइयों को बता दें कि आप ऑफलाइन भी केवाईसी करा सकते हैं इसके लिए आपको आधार कार्ड और मोबाइल के साथ कॉमन सर्विस सेंटर पर जाना होगा और वहां पर आप आसानी से केवाईसी करा सकते हैं जिससे जब भी नई किस्त आए तो आपको पता चल सके।

पीएम किसान सम्मान निधि योजना (PM KISAN SAMMAN NIDHI YOJNA) 2022

पीएम किसान सम्मान निधि योजना देश के सभी भूमि धारकों को आर्थिक सहायता प्रदान करने के लिए देश के प्रधानमंत्री के द्वारा चलाई गई एक सफल योजना है देश के करोड़ों किसानों को इस पीएम किसान सम्मान निधि का फायदा मिला है और किसानों की लगातार किस्त भी आ रही है जिसमें हर किस्त में ₹2000 दिए जा रहे हैं किसानों के परिवारों को इस योजना के तहत हर साल ₹6000 की आर्थिक सुविधा दी जा रही है यह सहायता ₹2000 की तीन किस्त में उपलब्ध कराई जा रही है अब तक योजना के सभी लाभार्थियों को 11:00 किस दी जा चुकी है अब किसानों को 12वीं किसका इंतजार है अब सप्ताह भर में 12वीं किस्त जारी कर दी जाएगी।

कैसे करें E-KYC

– सबसे पहले आपको पीएम किसान की वेबसाइट पर जाएं।

– वेबसाइट पर ई-केवाईसी (eKYC) का विकल्प दिया गया है।

इस प्रक्रिया को पूरा करने के लिए आपके आधार कार्ड, मोबाइल नंबर की जरूरत पड़ेगी।

गौरतलब है कि अगर कोई किसान इस योजना का गलत तरीके से लाभ उठाने की कोशिश कर रहा है तो सरकार की इस अपराध पर नोटिस भी जारी कर सकती हैं। नोटिस के मुताबिक केंद्र सरकार की ओर से किस्त लौटाने के लिए कहा जाएगा। अगर किसान सरकार को किस्त वापस नहीं करता है तो उन पर कार्रवाई भी की जा सकती है।

किन किसानों के खाते में नहीं आएगी किस्त

जिन किसानों के खाते में किस्त नहीं आएगी वह किसान वह है जिनके पास खेती योग्य जमीन 2 हेक्टेयर से ज्यादा हो उनके खाते में यह किस्त नहीं आएगी

ऐसे किसान जिनके नाम किसी राज्य या केंद्र शासित प्रदेश के भू अभिलेख दर्ज हो

ऐसे किसान जो केंद्र या राज्य की अधीनस्थ सेवाओं में कार्यरत हो अथवा किसी सरकारी पद पर हो

सरकारी सेवाओं में रिटायर हासिल कर चुके लोग जो संस्थागत किसान हो