Supreme Court to hear plea against offline board exams 2022 today? Here’s what students demand

February 22, 2022 By Monikazone.com 0

Board Exams 2022: ऑफलाइन बोर्ड परीक्षाएं कैंसिल होंगी? सुनवाई के लिए सुप्रीम कोर्ट तैयार, जानें CJI ने क्या कहा

वर्ष 2021-22 की सीबीएसई, सीआइसीएसई और विभिन्न राज्यों में कक्षा 10 और कक्षा 12 की बोर्ड परीक्षाओं की तैयारी में जुटे करोड़ों छात्र-छात्राओं के लिए बड़ी खबर। केंद्रीय बोर्डों व राज्य बोर्डों द्वारा 10वीं और 12वीं की परीक्षाओं का परंपरागत ऑफलाइन मोड में आयोजन को चुनौती देने वाली जनहित याचिका पर उच्चतम न्यायालय के न्यायाधीश न्यायमूर्ति ए. एम. खानविल्कर की अगुवाई वाली खण्डपीठ करेगी। देश भर के 15 राज्यों के छात्रों द्वारा सर्वोच्च न्यायालय में महामारी के बीच ऑफलाइन परीक्षाओं के आयोजन के विरूद्ध दायर किए गए पीआइएल को लेकर भारत के मुख्य न्यायाधीश के न्यायमूर्ति एन. वी. रमन्ना की की अध्यक्षता वाली खण्डपीठ द्वारा आज, 21 फरवरी 2022 को मामले की दूसरी खण्डपीठ के समक्ष सुनवाई का आदेश दिया गया।

यह है बच्चों के अभिभावकों का कहना

सीबीएसई के सेकेंड्री और सीनियर सेकेंड्री, सीआइएससी की आइसीएसई और आइसीए, विभिन्न राज्यों की हाई स्कूल और इंटरमीडिएट कक्षाओं के लिए बोर्ड परीक्षाओं का आयोजन ऑफलाइन मोड में यानि परीक्षा केंद्र पर किया जाना है। स्टूडेंट्स और पैरेंट्स इन परीक्षाओं का ऑफलाइन मोड में आयोजन का विरोध कर रहे हैं। छात्रों और पैरेट्स का कहना है कि जब महामारी के चलते स्टूडेंट्स की पढ़ाई ऑनलाइन मोड में पूरी की जा रही है तो परीक्षाओं का आयोजन भी ऑफलाइन मोड क्यों हो रहा है। ऐसे में 15 राज्यों के छात्रों द्वारा सुप्रीम कोर्ट में याचिका दायर की गयी है, जिसमें छात्रों ने शीर्ष अदालत से गुहार लगाई है कि सीबीएसई, सीआइएससीई समेत राज्यों के बोर्ड को निर्देश दें कि एग्जाम ऑफलाइन मोड में न हो और ईवैल्यूएशन इंटर्नल एसेसमेंट के आधार पर हो। इस मांग के पीछे एक कारण यह भी है कि कक्षाएं ऑनलाइन आयोजित की जाती थीं, इसलिए परीक्षा भी उसी
प्रकार की जाए

CBSE Term 1 Result 2021 LIVE: Cbseresults.nic.in 10th, 12th Results Confirms Official

Big breaking:-CBSE Term 2 Date Sheet 2022: CBSE बोर्ड 10वीं और 12वीं के टर्म 2 की डेट शीट

Demand of Students

Students demand cancellation of board exams 2022.

Students demand that CBSE, CISCE, and state boards like BSEB, MPBSE should adopt an alternate mode of assessment for Class 10, 12.

The petition also seeks relief for conducting an improvement exam for those students who are not satisfied with the internal assessment.





The petition seeks to form a committee for deciding the formula of assessment of Class 10, 12 students including compartment exams and declaration of result on time.

Court Notice-Click Here

अभिभावकों का कहना है कि जिस प्रकार से अबकी बार सभी बोर्ड एग्जाम की पढ़ाई वह ऑनलाइन मूड में कराई गई है उसी प्रकार से एग्जाम भी ऑनलाइन मोड में ही कराई जाए ताकि छात्रों की जिंदगी पर कोई कष्ट ना आए जिससे छात्र सुरक्षित रहे और वह अपने जीवन को भी सुरक्षित कर सके जिसकी वजह से कोर्ट में पीआईएल दायर की गई है कि एग्जाम को ऑनलाइन मोड में ही कराया जाए जल्दी इस पर फैसला किया जाएगा